WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Home » डिजिटल इंडिया » गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) खो जाने पर क्या करें?

गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) खो जाने पर क्या करें?

गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट खो या गुम हो जाने पर सबसे पहले आपको नजदीकी पुलिस स्टेशन पर रिपोर्ट दर्ज करना है। जैसा कि आपका व्हीकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट खो गया है इसके बारे में पुलिस स्टेशन में एक एफ आई आर दर्ज करवा कर उसकी फोटोकॉपी अपने पास ले लेना है। उसके बाद आपके पास डुप्लीकेट रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट बनवाने के दो ऑप्शन होते हैं। डुप्लीकेट रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीके से बनवा सकते हैं।

गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) खो जाने पर क्या करें?

आज की जानकारी में हम आपको गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट खो जाने पर क्या करना होता है इसके बारे में बताएं वाले हैं। नीचे दिए गए जानकारी को जरूर ध्यान से पढ़ें।

वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र खो जाने पर करना होगा ये काम?

यदि आपने अपना वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र खो दिया है, तो आपको तुरंत स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करनी चाहिए और प्राथमिकी (प्रथम सूचना रिपोर्ट) की एक प्रति प्राप्त करनी चाहिए। एक बार जब आप ऐसा कर लेते हैं, तो आप अपने वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र की डुप्लीकेट प्रति प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं:

अपने स्थानीय क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) में एक डुप्लीकेट पंजीकरण प्रमाणपत्र के लिए आवेदन करें जहां आपका वाहन पंजीकृत है। आपको एक आवेदन पत्र भरना होगा और आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा। आपको अपने वाहन का विवरण जैसे पंजीकरण संख्या, इंजन संख्या और चेसिस संख्या आरटीओ को प्रदान करने की आवश्यकता होगी।

आपको आरटीओ द्वारा आवश्यक प्राथमिकी की एक प्रति, अपना पहचान प्रमाण, पता प्रमाण और कोई अन्य प्रासंगिक दस्तावेज भी प्रदान करने की आवश्यकता होगी। एक बार आपका आवेदन सत्यापित हो जाने के बाद, आपको डुप्लीकेट पंजीकरण प्रमाणपत्र के लिए निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा।

शुल्क का भुगतान करने के बाद, आपको आरटीओ से एक रसीद प्राप्त होगी, और कुछ दिनों के भीतर आपको डुप्लीकेट पंजीकरण प्रमाणपत्र जारी कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़े: गाड़ी का डुप्लीकेट पंजीकरण प्रमाणपत्र के लिए कैसे आवेदन करें Apply For Duplicate RC?

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सटीक प्रक्रिया और आवश्यक दस्तावेज एक राज्य से दूसरे राज्य में भिन्न हो सकते हैं, इसलिए सलाह दी जाती है कि विशिष्ट आवश्यकताओं के लिए अपने स्थानीय आरटीओ से जांच करें।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Share on:

Leave a Comment