Home » शेयर मार्केट » Sensex Kya hai सेंसेक्स कैसे बढ़ता और घटता है?

Sensex Kya hai सेंसेक्स कैसे बढ़ता और घटता है?

Sensex को पहली बार 1986 में पेश किया गया था और इसे भारत के सबसे पुराने स्टॉक मार्केट इंडेक्स में से एक माना जाता है। सूचकांक की गणना एक फ्री-फ्लोट बाजार पूंजीकरण भारित पद्धति का उपयोग करके की जाती है, जहां सूचकांक का स्तर किसी विशेष आधार अवधि के सापेक्ष सूचकांक में सभी शेयरों के कुल बाजार मूल्य को दर्शाता है। सेंसेक्स की आधार अवधि 1978-79 है और आधार मूल्य 100 है।

Sensex kya hai

सेंसेक्स का उपयोग भारतीय इक्विटी में निवेश करने के इच्छुक अंतर्राष्ट्रीय निवेशकों के लिए एक बेंचमार्क के रूप में भी किया जाता है। यह सूचकांक MSCI इमर्जिंग मार्केट्स इंडेक्स, FTSE ग्लोबल इक्विटी इंडेक्स सीरीज़ और डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स जैसे कई वैश्विक सूचकांकों में शामिल है, जिससे यह अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के लिए आसानी से सुलभ हो जाता है।

ये भी पढ़े:

सेंसेक्स क्या है What is Sensex?

BSE Sensex (बीएसई 30 या केवल सेंसेक्स के रूप में भी जाना जाता है) एक स्टॉक मार्केट इंडेक्स (Stock Market index) है जो भारत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में सूचीबद्ध 30 सबसे बड़ी और सबसे सक्रिय रूप से कारोबार वाली कंपनियों के प्रदर्शन का प्रतिनिधित्व करता है।

इंडेक्स को भारतीय शेयर बाजार का बैरोमीटर माना जाता है और बाजार के प्रदर्शन को मापने के लिए इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। Sensex के मूल्य की गणना सूचकांक में शामिल कंपनियों के बाजार पूंजीकरण के आधार पर की जाती है, और इसका उपयोग निवेशकों द्वारा उनके पोर्टफोलियो के प्रदर्शन के लिए बेंचमार्क के रूप में किया जाता है।

सेंसेक्स एक फ्री फ्लोट मार्केट कैपिटलाइज़ेशन वेटेड इंडेक्स है, जिसका अर्थ है कि यह उपलब्ध फ्री फ्लोट शेयरों की संख्या के अनुपात में इंडेक्स में सभी कंपनियों के बाजार मूल्य में बदलाव को दर्शाता है।

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों का चयन उनकी तरलता, व्यापारिक आवृत्ति और बाजार पूंजीकरण के आधार पर किया जाता है। Sensex को Blue-Chip Index माना जाता है, क्योंकि इसमें बैंकिंग, प्रौद्योगिकी, उपभोक्ता वस्तुओं और अन्य जैसे विभिन्न क्षेत्रों में भारत की कुछ सबसे बड़ी और सबसे अच्छी तरह से स्थापित कंपनियां शामिल हैं।

सेंसेक्स का व्यापक रूप से भारत और विश्व स्तर पर बाजार सहभागियों द्वारा अनुसरण किया जाता है, और इसे भारतीय Share Market के लिए एक बेंचमार्क माना जाता है। इंडेक्स का व्यापक रूप से निवेशकों, फंड मैनेजरों और वित्तीय विश्लेषकों द्वारा अपने पोर्टफोलियो के लिए एक बेंचमार्क के रूप में और भारतीय शेयर बाजार के समग्र प्रदर्शन को ट्रैक करने के लिए उपयोग किया जाता है।

इसका उपयोग Mutual fund और अन्य निवेश उत्पादों के प्रदर्शन को मापने के लिए बेंचमार्क के रूप में भी किया जाता है।

भारतीय शेयर बाजार के लिए एक बेंचमार्क होने के अलावा, Sensex का उपयोग समग्र रूप से भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक बेंचमार्क के रूप में भी किया जाता है। सूचकांक को देश के आर्थिक स्वास्थ्य का एक प्रमुख संकेतक माना जाता है और नीति निर्माताओं, अर्थशास्त्रियों और बाजार सहभागियों द्वारा बारीकी से देखा जाता है। एक बढ़ता हुआ सेंसेक्स आम तौर पर सकारात्मक आर्थिक विकास का संकेत देता है, जबकि एक गिरता हुआ सेंसेक्स अर्थव्यवस्था में मंदी का संकेत दे सकता है।

कई सूचकांक प्रदाता हैं जो Sensex मूल्य की गणना और रखरखाव करते हैं, एस एंड पी डॉव जोन्स इंडेक्स सबसे प्रसिद्ध प्रदाताओं में से एक है। वे सेंसेक्स के लिए रीयल-टाइम और ऐतिहासिक डेटा भी प्रदान करते हैं, जिसका अनुसंधान और विश्लेषण उद्देश्यों के लिए बाजार सहभागियों द्वारा व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

सेंसेक्स को भारत की बड़ी आबादी और तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के कारण विश्व स्तर पर सबसे महत्वपूर्ण सूचकांक में से एक माना जाता है, सेंसेक्स को विश्व स्तर पर सबसे महत्वपूर्ण सूचकांक में से एक माना जाता है। यह Indian economy की सेहत का एक महत्वपूर्ण पैमाना और देश की वित्तीय स्थिरता का सूचक भी है।

कैसे जाने आज का सेंसेक्स क्या है?

आप किसी भी वित्तीय समाचार वेबसाइट जैसे कि इकोनॉमिक टाइम्स, मनी कंट्रोल, या बिजनेस स्टैंडर्ड पर जाकर आज के sensex का पता लगा सकते हैं, जो आमतौर पर सेंसेक्स जैसे शेयर बाजार सूचकांकों पर अप-टू-डेट जानकारी प्रदान करते हैं। वैकल्पिक रूप से, आप बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं, जो वास्तविक समय में सेंसेक्स के वर्तमान मूल्य को भी प्रदर्शित करता है। आप यह जानकारी स्टॉक मार्केट अपडेट प्रदान करने वाले विभिन्न मोबाइल ऐप्स पर भी पा सकते हैं।

क्या होता है जब Sensex बढ़ता है?

Sensex एक Index है जो भारत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में सूचीबद्ध शीर्ष 30 कंपनियों के प्रदर्शन का प्रतिनिधित्व करता है। जब सेंसेक्स बढ़ता है, तो यह आम तौर पर इंगित करता है कि इन 30 कंपनियों के शेयर की कीमतें बढ़ गई हैं, जो सकारात्मक आर्थिक समाचार, इन कंपनियों के मजबूत वित्तीय परिणाम, या निवेशकों के विश्वास में वृद्धि जैसे विभिन्न कारकों के कारण हो सकती हैं।

यहां बढ़ते सेंसेक्स के कुछ संभावित प्रभाव हैं:

  • सकारात्मक भावना: एक बढ़ता हुआ सेंसेक्स आमतौर पर सकारात्मक निवेशक भावना और अर्थव्यवस्था में विश्वास का संकेत देता है, जिससे शेयर बाजार में निवेश में वृद्धि हो सकती है।
  • संपत्ति में वृद्धि: सेंसेक्स में वृद्धि से उन निवेशकों की संपत्ति में भी वृद्धि हो सकती है, जो सूचकांक में प्रतिनिधित्व वाली कंपनियों में स्टॉक रखते हैं, क्योंकि उनके निवेश का मूल्य बढ़ता है।
  • अर्थव्यवस्था को बढ़ावा: एक मजबूत शेयर बाजार भी समग्र अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दे सकता है, क्योंकि यह व्यापार गतिविधि और निवेश में वृद्धि का संकेत दे सकता है।
  • उच्च विदेशी निवेश: एक बढ़ता हुआ सेंसेक्स अधिक विदेशी निवेश को आकर्षित कर सकता है, क्योंकि निवेशक इसे अर्थव्यवस्था के सकारात्मक संकेतक और विकास की संभावना के रूप में देख सकते हैं।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि एक बढ़ता हुआ सेंसेक्स अनिवार्य रूप से सूचकांक में कंपनियों के लिए निरंतर आर्थिक विकास या दीर्घकालिक लाभप्रदता की गारंटी नहीं देता है। वृद्धि के अंतर्निहित कारणों का विश्लेषण करना और निवेश निर्णय लेते समय अन्य आर्थिक संकेतकों और कारकों पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

आज का सेंसेक्स क्या है कैसे देखे?

आप इसे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) की आधिकारिक वेबसाइट या अन्य वित्तीय वेबसाइट पर देख सकते हैं। समाचार वेबसाइटें जहां उनके पास सबसे नवीनतम और सटीक जानकारी होगी।

सेंसेक्स में कितनी कंपनियां हैं

सेंसेक्स भारत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का एक सूचकांक है जो एक्सचेंज में सूचीबद्ध शीर्ष 30 कंपनियों के प्रदर्शन का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए सेंसेक्स में 30 कंपनियां शामिल हैं। इन कंपनियों का चयन विभिन्न मानदंडों जैसे बाजार पूंजीकरण, ट्रेडिंग वॉल्यूम और अन्य वित्तीय और तरलता मापदंडों के आधार पर किया जाता है। सेंसेक्स की संरचना की समय-समय पर समीक्षा की जाती है और यह सुनिश्चित करने के लिए संशोधित किया जाता है कि यह भारतीय शेयर बाजार का प्रतिनिधि बना रहे।
Share on:

Leave a Comment