पैसा इन्वेस्ट कहा करें सबसे अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान कौन सा है ?

अपने पैसे को कहां इन्वेस्ट करें दोस्तों पैसा कमाना ज्यादा बड़ी बात नहीं है। पैसा इन्वेस्ट करना और सेव करने के साथ-साथ उस पैसे को सही जगह इन्वेस्ट करना एक अपने आप में बहुत बड़ी बात है। इस दुनिया में कोई भी हो चाहे वह ₹1000 कमा रहा है या 10000 या 50000 जरूरी यह है कि यदि आप पैसा सेव करना या बचाना नहीं जानते तो आपको कमाने का कोई मतलब नहीं। यदि आपके मन में यही सवाल है कि अपने पास जो पैसे रखे हुए हैं इस पैसे को कहा इन्वेस्ट करें तो आज के इस जानकारी में हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे तरीके जहां पर आप पैसे को इन्वेस्ट करके अच्छा खासा रिटर्न पा सकते हैं।

पैसा-इन्वेस्ट-कहां-करें

दोस्तों यदि आप कोई जॉब करते हैं,  यदि आपका हर महीने सैलरी आती तो सैलरी का कुछ हिस्सा को आप कहा रखते हैं। हो सकता है की कुछ पैसा आप हमेशा बाद में इस्तमाल करने के लिए रखते हैं हो सकता है अब किसी एमरजेंसी के लिए रखते हैं या कोई घर या गाड़ी लेनी हो पर इसकी बात अलग हो जाती है। आज हम जानेंगे पैसे को कहां इन्वेस्ट करें कि हमें अच्छा खासा रिटर्न मिल सके।

पैसा इन्वेस्ट कहा करें ?

पैसा सेविंग करने का सबसे अच्छा तो नहीं कहूंगा लेकिन यदि आप बिना झंझट और टेंशन के पैसे को सेव रखना चाहते हैं तो आप अपने बैंक अकाउंट में रखते हैं। लेकिन यह एक बहुत बेकार तरीका है क्योंकि पड़े हुए पैसे आपके वैल्यूज को कम करते रहते हैं। क्योंकि हमारे देश में इन्फ्लेमेशन बढ़ती रहती है इसकी वजह से सारी चीजों के प्राइस बढ़ते रहते हैं तो आपके पैसों की जो वैल्यू होती है वह धीरे-धीरे हर साल कम होती रहती है जो भी इन्फ्लेमेशन रेट है उसके मुकाबले रखे हुए पैसे से ज्यादा है उसे कहीं अच्छा जगह इन्वेस्ट कर देते हैं।

मुख्य बात यह है कि आपको पैसा ऐसी जगह इन्वेस्ट करना है जहां से हमको देश की महंगाई दर से ज्यादा रिटर्न मिल सके। यदि आप अपने पैसे को ऐसी जगह इन्वेस्ट कर रहे हैं जहां पर आपको महंगाई दर से कम का रिटर्न मिल रहा है तो आपके पैसे को सेव करने का तरीका एकदम बेकार है। 

हमारे देश में ऐसे 5 जगह है जहां लोग अपने पैसे को इन्वेस्टमेंट ज्यादा करते हैं, और हम सभी के बारे में जानेंगे हमें कहां पर ज्यादा फायदा होगा कब और कहां पर नहीं।

  1. सेविंग अकाउंट
  2. फिक्स डिपाजट
  3. गोल्ड और ज्वेलरी
  4. रियल स्टेट
  5. स्टॉक मार्केट

किसी भी इन्वेस्टमेंट में तीन चीजें होती है रिटर्न, रिस्क और टाइम (समय)

  • रिटर्न- रिटर्न यानी कि कितना प्रॉफिट आप कमा रहे हो इन्वेस्टमेंट करके कितना मुनाफा आपको हो रहा है। तो यदि इन्फ्लेमेशन रेट हमारे भारत का 4% चल रहा है तो आपको यह देखना चाहिए कि आपका रिटर्न परसेंटेज, 4% से ज्यादा ही होना चाहिए नहीं तो कोई फायदा नहीं हुआ आपको इन्वेस्टमेंट करने का क्योंकि आपने पैसे का इन्वेस्टमेंट किया और आपका पैसा इन्फ्लेमेशन रेट से कम रिटर्न दिया।
  • रिस्क- रिस्क यानी कितना रिस्की है इन्वेस्टमेंट को करना क्या चांसेस है कि आप अपने सारे पैसे को उड़ा दोगे इनमें इन्वेस्टमेंट करके क्या चांसेस है क्या आपका लॉस हो जाएगा
  • समय- इन्वेस्टमेंट करने पर समय यानी कि कितने समय के लिए आप इन्वेस्टमेंट करते हैं कि आपको अच्छा रिटर्न मिलता है।

तो बेसिक रूल यह है कि यदि टाइम ज्यादा है रिस्क भी ज्यादा है तो आपको रिटर्न भी ज्यादा ही होगा यदि आपके इन्वेस्टमेंट पर ज्यादा रिटर्न चाहिए तो आपको रिस्क भी उठाना पड़ेगा या फिर आपको ज्यादा समय के लिए इन्वेस्टमेंट करना होगा।

किस तरह का इन्वेस्टमेंट सबसे अच्छा रहेगा पैसा इन्वेस्ट कहा करें

1.बैंक में सेविंग करने के फायदे और नुकसान

सेविंग अकाउंट में कम रिस्क है उसमें कोई रिस्ट्रिक्शन भी नहीं है आप जब चाहे पैसा निकाल सकते हैं और जब चाहे पैसा डाल सकते हैं लेकिन वहां पर जो रिटर्न मिलता है वह बहुत ही कम होता है। सिर्फ और सिर्फ चार परसेंट जबकि हमारे कुछ सालों में देश का इन्फ्लेमेशन रेट चार से पांच परसेंट रहा है।

2.बैंक में फिक्स डिपॉजिट में पैसा इन्वेस्ट के फायदे और नुकसान

फिक्स डिपाजिट कम रिस्क वाला प्लान है लेकिन यहां पर एक समय फिक्स रहता है कि आप उस समय से पहले अपने पैसे को नहीं निकाल सकते हैं। इसलिए वहां पर जो रिटर्न है सेविंग अकाउंट से थोड़ा ज्यादा है करीब-करीब आप फिक्स डिपाजिट में छह से आठ परसेंट तक रिटर्न पा सकते हैं।

3.गोल्ड में निवेश करने के फायदे और नुकसान

गोल्ड और ज्वेलरी की बात करें तो इसमें आज के समय में मॉडरेट रिस्क है। इनके प्राइस बहुत ही ज्यादा ऊपर नीचे होते रहते हैं अगर गोल्ड और ज्वेलरी की हिस्ट्री देखेंगे तो 2011-12 तक तो गोल्ड के प्राइस बढ़ रहे थे तो यदि आपने 2012 से पहले इन्वेस्टमेंट की होती तो काफी अच्छे रिटर्न मिल गए होते हैं। लेकिन 2012 से लेकर आज तक बहुत ज्यादा ऊपर नीचे हुई है लेकिन वह एक लेवल मेंटेन करके चल रहा है तो इसमें भी कुछ ज्यादा रिटर्न प्रॉफिट नहीं मिलता है।

4.रियल स्टेट में निवेश करने के फायदे नुकसान

घर खरीदने और प्रॉपर्टी के इन्वेस्टमेंट में लो मोडरेट रिस्क है आप पिछले कुछ सालों में आप इंडिया के हाउसिंग प्राइस को देख सकते हैं यह सबसे ज्यादा 2011 में अच्छा रिटर्न मिला था। लेकिन उसके बाद यह सिर्फ 5% का रिटर्न दे रहा है हाउसिंग में इन्वेस्ट करने में बहुत ज्यादा पैसों की जरूरत होती है लाखों करोड़ों रुपया आपके पास पहले से होना चाहिए इसमें रियल इस्टेट में इन्वेस्ट करने के लिए।

5.ट्रेडिंग में पैसा इन्वेस्ट के फायदे और नुकसान

दोस्तों ट्रेडिंग करने से फायदा तो बहुत होता है लेकिन इसमें रिस्क भी होता है। ट्रेडिंग ऑनलाइन कई तरह से होने लगा है स्टॉक मार्केट यानी कि शेयर मार्केट, म्यूच्यूअल फंड भी ट्रेडिंग के अंतर्गत आता है।  यदि आप म्यूचुअल फंड में पैसा लगाते हैं तो कहीं ना कहीं घूम कर के यह पैसा शेयर मार्केट में ही जाता है। उसके बाद ही आपको फायदा मिलता है। बहुत से लोग क्रिप्टो, बिटकॉइन जैसे दूसरे देश के इलेक्ट्रॉनिक करेंसी के साथ भी ट्रेडिंग करते हैं। लेकिन यह जोखिम भरा होता है क्योंकि यह कोई फिजिकल मौजूदगी नहीं है यह बस आपको ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक बेस दूसरे देश की करेंसी है जो एक जोखिम भरा हो सकता है।

स्टॉक मार्केट मैं पैसा इन्वेस्ट के फायदे और नुकसान

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट के बारे में आपने सुना ही होगा इसमें बहुत ज्यादा रिटर्न मिल सकता है लेकिन इसमें बहुत ज्यादा आपको लॉस भी हो सकता है। कितना रिस्की है स्टॉक मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करना यह डिपेंड करता है। आप कौन से स्टॉक में इन्वेस्टमेंट करते हो इसके लिए आपके पास बहुत ज्यादा नॉलेज होने की आवश्यकता होती है। इसमें आपको एनालिसिस करना पड़ता है कि आपको किस स्टॉक मार्केट में लगाना चाहिए आगे चलकर जो अच्छा रिटर्न दे सके। यदि आपको स्टॉक मार्केट के बारे में अनुभव नहीं है तो आपको इसमें इन्वेस्टमेंट नहीं करना चाहिए।

म्यूचुअल फंड में पैसा इन्वेस्ट करने फायदे और नुकसान

दोस्तों म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करना बहुत ही अच्छा है, इसके अंतर्गत आपको कई प्रकार मिल जाएंगे जहां पर आप हाई रिस्क, लो रिस्क और मध्यम रिस्क में इन्वेस्ट कर सकते हैं। क्योंकि इसमें यदि आप एक बार पैसे लगा देते हैं तो आपको बार-बार इसमें कुछ करने की जरूरत नहीं होती है और यह पैसा आपका कहीं ना कहीं शेयर मार्केट में ही जाता है। आपके पैसे को म्यूच्यूअल फंड के एक्सपर्ट द्वारा शेयर मार्केट में पैसा लगाया जाता है और उसके द्वारा जो भी रिटर्न मिलता है उसमें से म्यूच्यूअल फंड कंपनी अपना थोड़ा बहुत चार्ज लेकर और जो फायदे होते हैं सब आपको दे देती है।

दोस्तों और भी कई तरह की इन्वेस्टमेंट होती है जैसे गवर्नमेंट्स बाउंस हो गया कारपोरेट बाउंस हो गया और आज के समय में क्रिप्टो करेंसी और लोग बिटकॉइन में भी इन्वेस्टमेंट करने लग गए हैं।

मेरी मांने तो आपको अपने पैसे को किसी एक जगह इन्वेस्ट नहीं करना चाहिए आपको अपने पैसे को अलग-अलग जगह इन्वेस्ट करके रखना चाहिए। इससे क्या होगा कि जब कभी भी कोई प्राइस क्रश करेगा तो आपको ओवरऑल लॉस नहीं होगा ऐसे भी तो बहुत कम चांस है। गोल्ड भी क्रेस कर गया और प्रॉपर्टी भी क्रैस कर गया और स्टॉक मार्केट भी क्रैश कर जाए। सब साथ में क्रैस हो जाए ऐसा बहुत कम होता है। इससे यह फायदा हुआ कि यदि आपको एक इन्वेस्टमेंट में लॉस हो रहा है तो दूसरा आपका सेविंग बचा रहेगा। 

तो दोस्तों आज की जानकारी में हमने पैसा इन्वेस्ट करने के बारे में बताया पैसे को कहा सेविंग करना चाहिए किस प्रकार का नहीं चाहिए इसके बारे में जाना यदि आपको इस जानकारी से संबंधित कुछ पूछना है तो हमें नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment