WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Koo App क्या है कू ऐप के फीचर क्या है?

Koo App- आज की इस जानकारी में हम आपको बताने वाले हैं।एक एप्लीकेशन के बारे में जी हां दोस्तों एक भारतीय मोबाइल एप्लीकेशन के बारे में जिसका नाम है। Koo App अक्सर अपने इंटरनेट या किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसका नाम जरूर सुना होगा लेकिन आप मैसेज या तो लोगों को नहीं पता होगा आखिर यह कोई ऐप है।

Koo ऐप एक माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है जिसे बॉम्बिनेट टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड नामक एक भारतीय कंपनी द्वारा विकसित किया गया है। इसे अक्सर ट्विटर के भारतीय विकल्प के रूप में जाना जाता है। ऐप उपयोगकर्ताओं को भारतीय भाषाओं के साथ-साथ अंग्रेजी में लघु संदेश या “कू” पोस्ट करने की अनुमति देता है।

Koo-app-istemal

आज की जानकारी में हम आपक उसके बारे में पूरी जानकारी बताएंगे koo App क्या है। और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है तो चलिए इसके बारे में जानते हैं। कू ऐप अल्टरनेट ऐप है। Koo App को मार्च 2020 में लांच किया गया था। इस ऐप के माध्यम से आप सभी फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं जिस प्रकार ट्विटर में इस्तेमाल किया जाता था।

कू ऐप क्या है What is Koo App in Hindi?

कू एप्लीकेशन एक माइक्रो ब्लॉगिंग एप्लीकेशन है। ट्विटर की तरह इस एप्लीकेशन को आप आईओएस और एंड्रॉयड दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम में इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि यह एप्लीकेशन भारत द्वारा बनाया गया है तो इसमें आपको भारत की लगभग कई लोकल भाषाओं का लुफ्त उठा सकते हैं।

कू ऐप एक ऐसा मंच है जिसमें लोग अपना एक के अकाउंट बनाकर एक दूसरे के साथ कनेक्ट हो सकते हैं। और अपने विचार को शेयर कर सकते हैं।

लोकप्रिय माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, टिकटॉक सहित 200 से अधिक चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले के बाद कू ने भारत में लोकप्रियता हासिल की। मार्च 2020 में लॉन्च होने के बाद से, कू ने राजनेताओं, सरकारी अधिकारियों और मशहूर हस्तियों सहित एक महत्वपूर्ण उपयोगकर्ता आधार को आकर्षित किया है।

ऐप ने भारतीय भाषाओं के अपने समर्थन के लिए भी ध्यान आकर्षित किया है, जिसमें उपयोगकर्ता हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और बंगाली सहित क्षेत्रीय भाषाओं में संवाद करने में सक्षम हैं।

कू ऐप को उपयोगकर्ताओं को “कूस” के रूप में जाने वाले 400 अक्षरों तक के छोटे संदेशों में अपने विचार, राय और विचारों को साझा करने में सक्षम बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। उपयोगकर्ता अन्य उपयोगकर्ताओं का अनुसरण कर सकते हैं और लाइक, कमेंट और रीपोस्ट के माध्यम से उनकी सामग्री के साथ जुड़ सकते हैं।

कू ने भारत में राजनीतिक संवाद के एक मंच के रूप में महत्वपूर्ण ध्यान आकर्षित किया है, कई हाई-प्रोफाइल राजनेताओं और सरकारी अधिकारियों ने अपने घटकों के साथ संवाद करने के लिए मंच का उपयोग किया है। ऐप का उपयोग सामाजिक सक्रियता और सामाजिक मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए भी किया गया है।

भारतीय भाषाओं के लिए अपने समर्थन के अलावा, कू ने उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने के लिए कई सुविधाएँ भी पेश की हैं, जैसे ऑडियो पोस्ट, चुनाव और क्यू एंड ए सत्र। ऐप ने यूजर एंगेजमेंट को प्रोत्साहित करने के लिए कई पहल भी शुरू की हैं, जैसे कू कम्युनिटी फीचर, जो यूजर्स को उनकी रुचि के आधार पर कम्युनिटी बनाने और उनमें शामिल होने की अनुमति देता है।

कुल मिलाकर, Koo ऐप का उद्देश्य भारत में विशेष रूप से क्षेत्रीय भाषाओं में भाषण और अभिव्यक्ति की आज़ादी के लिए एक मंच प्रदान करना है, और 2020 में लॉन्च होने के बाद से इसने एक महत्वपूर्ण उपयोगकर्ता आधार प्राप्त किया है।

कू ऐप संस्थापक Koo App Founder

Koo ऐप की स्थापना अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका ने मार्च 2020 में की थी। अप्रमेय राधाकृष्ण बेंगलुरु के एक उद्यमी हैं, जिन्होंने पहले लोकप्रिय कैब-हेलिंग ऐप, टैक्सीफॉरश्योर की सह-स्थापना की थी। मयंक बिदावतका एक प्रौद्योगिकी उद्यमी और एक एंजेल निवेशक हैं, जिन्होंने विभिन्न प्रौद्योगिकी स्टार्टअप में काम किया है।

कू ऐप के लिए विचार 2020 में लोकप्रिय माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, टिकटॉक सहित कई चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के भारत सरकार के फैसले से उत्पन्न हुआ। संस्थापकों ने एक ऐसा मंच बनाने का अवसर देखा जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को पूरा करेगा और उन्हें खुद को अभिव्यक्त करने में सक्षम करेगा। उनकी क्षेत्रीय भाषाएँ।

अपने लॉन्च के बाद से, कू ने एक महत्वपूर्ण उपयोगकर्ता आधार प्राप्त किया है और भारत में राजनेताओं, सरकारी अधिकारियों और मशहूर हस्तियों द्वारा इसका व्यापक रूप से उपयोग किया गया है। ऐप को एक्सेल पार्टनर्स, ब्लूम वेंचर्स और 3one4 कैपिटल समेत कई निवेशकों से भी धन प्राप्त हुआ है।

कू ऐप डाउनलोड कैसे करें Koo App Download

कोई ऐप डाउनलोड करने के लिए यदि आप एंड्रॉयड यूजर है तो गूगल प्ले स्टोर में जाकर कोई ऐप सर्च करके डाउनलोड कर सकते हैं। यदि आप आई हो यस यूजर है। तो वहां पर भी इस ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। यह हमारे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके कोई ऐप को डायरेक्ट डाउनलोड कर सकते हैं।

Koo ऐप को आप Google Play Store या Apple App Store से डाउनलोड कर सकते हैं। यहां ऐप डाउनलोड करने के चरण दिए गए हैं:

Android के लिए Koo App download:

  • अपने Android डिवाइस पर Google Play Store खोलें।
  • सर्च बार में “Koo” खोजें।
  • Koo ऐप के आगे “इंस्टॉल करें” बटन पर क्लिक करें।

ऐप को अपने डिवाइस पर डाउनलोड और इंस्टॉल करने के लिए प्रतीक्षा करें।

iOS के लिए Koo App Download:

  1. अपने iPhone या iPad पर Apple ऐप स्टोर खोलें।
  2. सर्च बार में “Koo” खोजें।
  3. कू ऐप के आगे “गेट” बटन पर क्लिक करें।
  4. यदि संकेत दिया जाए, तो अपना Apple ID पासवर्ड दर्ज करें या प्रमाणित करने के लिए Touch ID या Face ID का उपयोग करें।
  5. ऐप को अपने डिवाइस पर डाउनलोड और इंस्टॉल करने के लिए प्रतीक्षा करें।

ऐप इंस्टॉल हो जाने के बाद, आप इसे खोल सकते हैं और प्लेटफॉर्म का उपयोग शुरू करने के लिए एक खाता बना सकते हैं।

कू ऐप पे अकाउंट कैसे बनाएं Create Koo App Account

  • Koo App पर अकाउंट बनाने से पहले आपको एप्लीकेशन को डाउनलोड कर लेना है। जब आपका अप्लीकेशन डाउनलोड हो जाता है तो उसे आप ओपन करना है।
  • ओपन करने के बाद आपको यहां पर भाषा सिलेक्ट करने का ऑप्शन दिखाई देगा यहां पर आपको अपना लैंग्वेज सेलेक्ट कर लेना है।
  • उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर वेरीफाई करना होता है मोबाइल नंबर डालकर ओटीपी डालकर वेरीफाई कर लेना है।
  • मोबाइल नंबर वेरीफाई होने के बाद अब आपके सामने प्रोफाइल पिक्चर सेटअप करने का ऑप्शन दिखाई देता है यदि आप अपना प्रोफाइल पिक्चर पर सेट करना चाहते हैं तो सेट कर सकते हैं।

तो इस तरह से आप Koo App में अकाउंट बनाकर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। koo App में आपने जिन जिन लोगों को फॉलो किया है। उनके द्वारा जब कोई गतिविधि यानी कि को किया जाएगा तो आपके पास नोटिफिकेशन प्राप्त होता रहेगा या आपको जिन लोगों ने फॉलो किया है। और यदि आप कोई पोस्ट अपडेट करते हैं तो आपके फल वर्ष की उसकी नोटिफिकेशन चली जाती है।

कू ऐप में कितने भाषा इस्तेमाल की गई है Koo App Languages

Koo App में इस्तेमाल होने वाली भाषा के बारे में बात करें तो इसमें हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, कन्नड़, मलयालम, बंगाली, पंजाबी, उड़ीसा, मराठी, तेलुगू और तमिल भाषाएं इस्तेमाल की गई है आप इसमें अपने किए गए टेक्स्ट मैसेज पोस्ट को किसी भी भाषा में आसानी से कन्वर्ट करके पोस्ट कर सकते हैं।

कू ऐप का इस्तेमाल लोग ट्विटर के विपरीत किया जा रहा है कोई आपको भारत का ट्विटर माना जा रहा है। जिसमें बड़े से बड़े लोग पॉलीटिशियंस, एक्टर अपना अकाउंट बना चुके हैं। कू स्वदेशी ऐप होने के नाते लोग इसका इस्तेमाल अधिक से अधिक कर रहे हैं और इसमें ट्विटर की तरह बहुत सारे फीचर भी दिए गए हैं।

कोई ऐप में क्या-क्या शेयर कर सकते हैं?

कोई ऐप के माध्यम से आप वीडियो, फोटोस, टेक्स्ट मैसेज, लिंक, ऑडियो मैसेज और साथ ही इसमें आप Poll मैसेज भी भेज सकते हैं।

अगर हम बात करें इसको एप्लीकेशन के फीचर्स के बारे में सबसे पहले फीचर इसका यह है कि इसमें आप किसी को भी फॉलो कर सकते हैं और अनफॉलो कर सकते हैं। जिस प्रकार आप टि्वटर फॉलोअर्स फॉलो करते हैं।

डाउनलोड कू ऐप

कू ऐप ट्विटर एप्स से कैसे अलग है?

सबसे पहली बात तो कोई ऐप भारत में बनाया गया है और ट्विटर ऐप अमेरिका में बनाया गया है। ट्विटर ऐप में हमें भारत देश की भाषा को नहीं दिया गया है। लेकिन koo app में हम स्वदेशी भारतीय लोकल भाषा का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Share on:

Leave a Comment