WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Home » टेक्नोलॉजी » भारत में चीनी स्मार्टफोन ना खरीदने वालों के लिए 12 स्मार्टफोन कंपनी

भारत में चीनी स्मार्टफोन ना खरीदने वालों के लिए 12 स्मार्टफोन कंपनी

भारत में चीन के खिलाफ 12 सर्वश्रेष्ठ स्मार्टफोन कंपनी- भारत दुनिया के सबसे बड़े स्मार्टफोन बाजार में से एक हैं वर्तमान में चीनी स्माटफोन ब्रांड जैसे हुआ हुआवेई, लेनेवो वनप्लस, श्यओमी, रेडमी, वीवो, ओप्पो, रियलमी और टेक्नो मोबाइल पिछले कुछ वर्षों में किसी भी चीज की तरह बढ़ रहे हैं। यहां भारत में चीनी स्मार्टफोन ब्रांडों क सबसे अच्छा विकल्प है गैर चीनी ब्रांड के स्मार्टफोन कंपनी देश के लिए हिसाब से सबसे अच्छी कीमत पर है।

चाइना-के-खिलाफ-भारत-में-12-स्मार्टफोन-कंपनी

चाइनीस स्मार्टफोन ना खरीदने वालों के लिए भारत में 12 स्मार्टफोन कंपनी

1.जिओ- भारत का स्मार्टफोन कंपनी

रिलायंस जिओ इन्फोकॉम लिमिटेड सबसे बड़ी भारतीय दूरसंचार कंपनी है जो एक राष्ट्रीय एलटीइ नेटवर्क संचालित करती है। और अपने 4G नेटवर्क पर वॉइस सेवा प्रदान करती है एलवाईएफ स्मार्टफोन और जिओ फोन भारत में गूगल प्ले पर मल्टीमीडिया एप्स के बंडल के साथ उपलब्ध दो सबसे लोकप्रिय और बजट स्मार्टफोन है।

2.माइक्रोमैक्स- भारतीय स्मार्टफोन कंपनी

माइक्रोमैक्स इनफॉर्मेटिक्स भारतीय के लिए बजट में इस बेहतरीन फीचर वाला स्मार्टफोन पेश करता है और भारत में कम कीमत वाले फीचर फोन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है कंपनी वाईयू टेलीवेंचर्स मोबाइल ब्रांड की भी मालिक है और अब मोबाइल हैंडसेट और एलईडी टीवी पैनल के लिए भी जानी जाती है।

3.सैमसंग- दक्षिण कोरिया

सैमसंग एक दक्षिण कोरियाई कंपनी है जिसकी भारत में सबसे अधिक ब्रांड वैल्यू है ब्रांड भारत में मोबाइल फोन टेबलेट स्मार्ट वॉच और अन्य मोबाइल उपकरणों के साथ-साथ उन्नत तकनीक और डिजाइन के साथ नवीनतम स्मार्टफोन प्रदान करता है।

4.एचटीसी- ताइवान

एचटीसी कारपोरेशन स्मार्टफोन लैपटॉप और कंप्यूटर बनाने वाली ताइवान की सबसे बड़ी उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों में से एक है कंपनी निर्माता स्मार्टफोन और अपनी पिक्सेल स्मार्टफोन श्रृंखला पर गूगल के साथ ही सहयोग करके काम कर रही हैं।

5.एलजी- दक्षिण कोरिया

एलजी कारपोरेशन एक और बहुत लोकप्रिय दक्षिण कोरियाई निगम है जो एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स और जन्नत जैसी सहायक कंपनियों को संचालित करता है एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स एलजी कारपोरेशन का एक हिस्सा है और वाशिंग मशीन एलसीडी टेलीविजन स्मार्टफोन और टेबलेट उपकरणों का निर्माण करता है।

6.आसुस- ताइवान

आसुस को आसुस टेक कंप्यूटर के नाम से जाना जाता है यह एक ताइवान ई कंपनी स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी है जो कंप्यूटर लैपटॉप नेटवर्क मोबाइल फोन और वर्क स्टेशन के साथ-सथ रोग फोन सीरीज और जेनफोन श्री जैसे बेहतरीन गेमिंग स्माटफोन भी उपलब्ध कराती है भारत और अन्य एशियाई देशों जैसे बड़े मोबाइल बाजारों में आंसू उसके एंड्रॉयड आधारित स्मार्टफोन और विंडोज आधारित मोबाइल लांच किए गए थे।

7.सोनी- जापान

सोनी मोबाइल कम्युनिकेशन एक जापानी प्रौद्योगिकी कंपनी है और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है सोनी कारपोरेशन ने एंड्रॉयड ओएस पर चलने वाले अपने स्मार्टफोन के लिए एक्सपीरिया ब्रांड का इस्तेमाल किया था।

8.पैनासोनिक- जापान

पैनासोनिक कारपोरेशन एक अन्य प्रमुख जापानी उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी है जो उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला पेश करती है पैनासोनिक के स्मार्टफोन भारत में एक प्रमुख स्मार्टफोन ब्रांड है और नवीनतम तकनीक के साथ-साथ उच्च गुणवत्ता वाले डिवाइस प्रदान करती है।

9.एप्पल- आईफोन

अमेरिकी अमेरिकी प्रौद्योगिकी कंपनी अमेजॉन गूगल फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट के साथ-साथ बड़ी पांच अमेरिकी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों में से एक है आईओएस पर स्मार्टफोन की आईफोन लाइन एपल धोना डिजाइन और मार्केटिंग की जाती है जो एंड्राइड के साथ-साथ दुनिया के 2 सबसे बड़े स्मार्टफोन प्लेटफार्म है।

10.गूगल पिक्सेल- अमेरिकी

स्मार्टफोन का पिक्सेल ब्रांड क्रोम ओएस या एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है। गूगल द्वारा पिक्सेल उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का ब्रांड है और उत्पाद लाइन में लैपटॉप टेबलेट के साथ-साथ सहायक उपकरण भी शामिल हैं।

11.नोकिया- फिनलैंड

नोकिआ उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी मोबाइल फोन और स्मार्टफोन की दुनिया भर में सबसे बड़ी विक्रेता थी अब माइक्रोसॉफ्ट के साथ साझेदारी के बाद अपने मोबाइल फोन बिजनेस प्लांट माइक्रोसॉफ्ट मोबाइल को खरीद लिया है।

12.ब्लैकबेरी- कनाडा

स्मार्टफोन का ब्लैकबेरी ब्रांड दुनिया के सबसे प्रमुख स्मार्टफोन कंपनी में से एक था। अब कंपनी सॉफ्टवेयर और सेवाओं के साथ एंटरप्राइजेज प्रदान करती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Share on:

Leave a Comment